आईएएस जोड़ी ने बनाया टॉयलेट लोकेटर एप्प

0
25

OFFICERS TIMES Sonali Giri and Ujjawalसरकार की ख्वाहिश, तकनीक का उचित इस्तेमाल और युवा सपनों की ऊंची उड़ान का जज्बा सब कुछ तो है इस एप्प में। द स्वच्छ भारत टॉयलेट लोकेटर एप्प। एक ऐसी एप्प जिसके जरिए आप जान पाएंगे चार हजार से ज्यादा शहरों में टॉयलेट्स कहां पर उपलब्ध हैं। इस बड़ी खोज को अंजाम दिया है आईएएस जोड़ी ने। पंजाब के मोगा में नगर निगम आयुक्त विपुल उज्जवल और फरीदकोट में अतिरिक्त जिला आयुक्त उज्जवल की पत्नी सोनाली गिरी ने इस एप्प को बनाकर सरकारी सीमाओं में रहकर भी आकाश नापने सरीखे आईडिया को खोजा है।
सरकारी मशीनरी का हिस्सा होने के बाद अकसर हर किसी की शिकायत होती है कि इन सीमाओं में बड़ी उपलब्धियां संभव नहीं। कहीं काम का दबाव बहाना बनता है, तो कहीं सिस्टम में रहकर नवाचार न कर पाने का बहाना। लेकिन इस युवा आईएएस जोड़ी ने कमाल किया है अपने आप में मिसाल है। इस एप्प को आईएएस जोड़ी ने मोदी सरकार के स्वच्छ भारत अभियान से जोड़ा है और शहरी विकास मंत्रालय की ओर से जल्द ही यह एप्प सार्वजनिक होगा। कहते हैं हर समस्या में ही उसका सबसे बड़ा समाधान मौजूद होता है। इस एप्प को बनाने के सफर में भी कुछ ऐसी ही घटना घटी। दिल्ली यात्रा के दौरान सोनाली ने शौचालय जाने के लिए दिल्ली के कनाट प्लेस इलाके में तलाश की, तो उन्हें तलाश के बाद भी शौचालय नहीं मिला। यहीं से निकला इस एप्प का आईडिया। उज्जवल और सोनाली ने अपने एमबीए के दोस्तों से इस बारे में सलाह की और पंजाब के शहरी क्षेत्रों के करीब 600 शौचालय इसमें अपडेट भी कर दिए।