यह बैंक दिवालिया हो रहा है, अपना पैसा निकाल लें

0
577

जयपुर। भारतीय रिजर्व बैंक की सख्ती ने बैंकिंग की दुनिया में बहुतों की नींद उड़ा दी है। ताजा जानकारी के अनुसार अपेक्स बैंक के अंतर्गत यानी मध्य प्रदेश राज्य सहकारी बैंक के अंतर्गत अगर आपका कोई खाता आता है, तो उससे आपको पैसा निकाल लेना चाहिए। क्योंकि इससे जुड़े सभी बैंक कभी भी बंद किए जा सकते हैं।

भोपाल से मिली जानकारी के अनुसार किसानों को जमकर लोन बांटने वाला यह बैंक रिकवरी में पिछड़ गया है। जिससे बैंक की व्यवस्था गड़बड़ा गई है। बैंक ने जिला प्रशासन की मदद लेकर अपने ब्रांच मैनेजर्स को वसूली के लिए कहा भी है, लेकिन मध्य प्रदेश का किसान आंदोलन इन पर भारी पड़ गया है। इधर जिला सहकारी बैंक रिजर्व बैंक के नियमों की पालना में भी फिसड्डी साबित हो रहे हैं। इनको 31 मार्च तक अपना सीआरएआर 9 फीसदी से ऊपर रखना होता है, ऐसा नहीं कर पाने की स्थिति में बैंक का लाइसेंस निरस्त हो सकता है। सीआरएआर मूल रूप से पूंजी को मापने का एक तरीका है, जो बैंक की जोखिम वाली पूंजी का प्रतिशत बतलाता है। इसी का इस्तेमाल करते हुए जमाकर्ताओं के धन की सुरक्षा निश्चित करने की प्रणाली जन्म लेती है। जमा को नुकसान पहुंचाए बगैर बैंक अपनी लोन बुक पर कितना घाटा उठा सकता है, यह सीआरएआर से ही पता चलता है।

इधर मध्य प्रदेश में किसानों पर करीब बीस हजार करोड़ बकाया होने और किसान आंदोलन की उग्रता के बीच बैंकों की हालत खराब हो गई है। मध्य प्रदेश के सहकारी बैंक करीब यहां 38 जिलों में सेवाएं दे रहे हैं। प्रदेश के कुछ बैंक जिला प्रशासन से मदद मांग कर भी वसूली की प्रक्रिया को तेज कर रहे हैं। अब देखना यह है कि अपेक्स बैंक में कितना पैसा अगले कितने दिनों में ग्राहकों की जेब से निकल जाएगा।