Home » Archives by category » Citizen Journalist (Page 4)
मानो, तो कर्म ही पूजा है –  एस.के. डोगरा, आईपीएस

पंजाबी अंदाज और सुलझा मिजाज डोगरा के व्यक्तित्व की खास पहचान हैं। तमिलनाडु काडर के 1982 बैच के आईपीएस एस.के. डोगरा अपने कामकाज के अलावा आध्यात्म और वैचारिक विस्तार की ओर अग्रसर प्रथम पंक्ति के अधिकारियों में गिने जाते हैं। भारतीय पुलिस सेवा में सक्रियता का अनूठा स्तर देखना हो, तो तमिलनाडु पुलिस इसकी मिसाल […]

Continue reading …
देश है, तो हम हैं! – जिजि माम्मेन, मुख्य महाप्रबंधक, नाबार्ड

जुनून जब जज्बे के साथ होता है, तो इतिहास जरूर रचा जाता है। क्योंकि पर्दे पर तो हर कोई रहना चाहता है, पर्दे के पीछे रहकर देश के लिए समर्पण और त्याग का भाव बिना जुनून और जज्बे के संभव नहीं होता। जिजि माम्मेन ऐसी ही शक्सियत हैं, जिन्होंने पर्दे के पीछे रहकर भी देश […]

Continue reading …
‘संध्या’ में उजाला भरपूर! – बी. संध्या, आईपीएस

भारतीय पुलिस सेवा में केरल काडर की वरिष्ठ अधिकारी बी. संध्या दक्षिण भारत ही नहीं, बल्कि देशभर में महिला आईपीएस अधिकारियों में खास पहचान रखती हैं। अंतरराष्ट्रीय मंच पर संध्या ने जो मुकाम बनाया है, वह उन्हें भीड़ से पूरी तरह अलग करता है। नाम सार्थक होते हैं! मान्यता की यह धारा बहुत पुरानी है। […]

Continue reading …
परिवार से मिले संस्कार – भवानी सिंह देथा, आईएएस

बड़ों के संस्कार, छोटों का प्यार और अपनों सा दुलार आईएएस भवानी सिंह देथा के परिवार की खास पहचान हैं। गरिमामयी रिश्तों के रंग में रंगा देथा का भरा-पूरा परिवार बदलते परिदृश्यों में मिसाल जैसा है। ऐसा परिवार जहां जनरेशन गैप के नाम पर दूरिया नहीं बताई जाती, बल्कि अपनत्व के विश्वास के साथ गले […]

Continue reading …
उसको बुल्लेशाह कहते हैं…! – डॉ. नरेश दाधीच

गांधवादी विचारों से प्रभावित और अपने प्रबंध कौशल से खुला विश्वविद्यालय में जान फूंकने वाले डॉ. नरेश दाधीच देशहित में किसी प्रोजेक्ट को कैसे लाभकारी बनाया जा सकता है, इसकी मिसाल हैं। जीत और हार के बीच की दूरी कितनी होती है? शायद उतनी जितनी हम महसूस भी न कर पाएं! ‘संभावनापूर्ण चिंतन’ की इस दूरी […]

Continue reading …
विश्वास!जो आज भी अटूट है! – राजेन्द्र भाणावत, रीको, प्रबंध निदेशक

कभी-कभी किसी चेहरे की चमक ही हमें एक गहरा विश्वास दिलाती है। विश्वास अपनाने का, भरोसे का, …और कभी न टूटने देने का! ऐसे ही विश्वास पर तो इतिहास रचा जाता है। राजस्थान काडर के वरिष्ठ आईएएस अधिकारी राजेन्द्र भाणावत की सेवाएं इसी अटूट विश्वास की जीती-जागती मिसाल हैं। उनके दरवाजे पर आया कोई व्यक्ति […]

Continue reading …
विनम्र मिजाज ! सहज अंदाज !

गहरे आस्तिक, विनम्र मिजाज, सहज अंदाज और भरपूर सरलता! कुछ ऐसे ही हैं, जयपुर पुलिस कमिशनर बी.एल. सोनी। राजस्थान काडर के ऐसे आईपीएस जिन पर जनता थानों से ज्यादा भरोसा करती है। …जो सहज उपलब्ध हैं। जिनकी विनम्रता और अपने कामकाज में सक्रियता बेहद मशहूर है। एक परिवार में जिम्मेदार पिता की भूमिका और पिता […]

Continue reading …
मुस्कान जरूरी है! – नीरज के. पवन, पाली कलक्टर

अंदाज है और एहसास भी। प्रयास है और साहस भी। कोशिश कुछ कर गुजरने की और बेबाकी जरा हटके। नीरज के. पवन पाली जिला कलक्टर हैं। प्रशासनिक मसलों पर समाधान के मामले में आगे रहने के चलते आज पूरा पाली उनका दीवाना है। सोशल नेटवर्क हो या ठेठ देहात, नीरज के जुड़ाव में कहीं भी […]

Continue reading …
‘सपन’ को सलाम! – विश्वजीत ‘सपन’, आईपीएस

‘विश्वजीत आईपीएस हैं’ देश ऐसा मानता है। ‘विश्वजीत रचनात्मक हैं’ लेखक जगत ऐसा मानता है। ‘विश्वजीत के सुरों में ताकत है’ गीत-संगीत की दुनिया ऐसा मानती है। …लेकिन उन्हें जितना जानों, उतना ही लगता है कि वो जिस पल जिस दुनिया में होते हैं, उसे जीतना जानते हैं। बिलकुल अपने नाम को सार्थक करते हुए। […]

Continue reading …
अलविदा!छपरी वाले बाबा!

सूचना एवं जनसंपर्क विभाग, राजस्थान के आयुक्त पद से सेवानिवृत्त हुए ‘छपरी वाले बाबा’ हमेशा याद आएंगे। मर्म समझने वाले बाबा की छवि के साथ आईएएस अधिकारी एस.एस. बिस्सा ने जो काम किया वो मिसाल है। कार्यकाल में रहते अपने आखरी सलाम के साथ बिस्सा से ऑफिसर्स टाइम्स के साथ बांटे अपने यादगार अनुभव। कहते […]

Continue reading …
Page 4 of 512345