Home » Archives by category » Money (Page 2)

तंत्र मन्त्र का यंत्र – अमिताभ ठाकुर, आईपीएस

Comments Off on तंत्र मन्त्र का यंत्र – अमिताभ ठाकुर, आईपीएस
तंत्र मन्त्र का यंत्र – अमिताभ ठाकुर, आईपीएस

देख बंधू, बात मेरी मान ले, हासिल नहीं कर पायेगा, जो तू चाहता, यह जान ले, मैं भी हूँ बना, न जाने किस मिट्टी का, मिट जाऊँगा, पर न झुकूँगा, तंत्र तेरा, मन्त्र तेरे, चेले चाटुकार बिखरे पड़े, जो चाहे उनसे करवा ले, मनमर्जी बातें लिखवा ले, मुझे अन्दर रख, बाहर रख, चाहे चाकरी से […]

Continue reading …

आईएएस जोड़ी ने बनाया टॉयलेट लोकेटर एप्प

Comments Off on आईएएस जोड़ी ने बनाया टॉयलेट लोकेटर एप्प
आईएएस जोड़ी ने बनाया टॉयलेट लोकेटर एप्प

सरकार की ख्वाहिश, तकनीक का उचित इस्तेमाल और युवा सपनों की ऊंची उड़ान का जज्बा सब कुछ तो है इस एप्प में। द स्वच्छ भारत टॉयलेट लोकेटर एप्प। एक ऐसी एप्प जिसके जरिए आप जान पाएंगे चार हजार से ज्यादा शहरों में टॉयलेट्स कहां पर उपलब्ध हैं। इस बड़ी खोज को अंजाम दिया है आईएएस […]

Continue reading …

शुभा का संसार ‘फ्लाई ऑन द वॉल…’

Comments Off on शुभा का संसार ‘फ्लाई ऑन द वॉल…’
शुभा का संसार ‘फ्लाई ऑन द वॉल…’

देश की ब्यूरोक्रेसी में साहित्य से लगाव, शब्दों की ओर झुकाव और शब्द संसार में मोतियों से पिरोए भाव बेहद मायने रखते हैं। यही वजह है कि देश की ब्यूरोक्रेसी में ऐसे अधिकारियों का भी एक कारवां हैं, जो हमेशा इस शब्द संसार में गोते लगाना पसंद करता है, जिन्हें शब्दों से, साहित्य से गहरा […]

Continue reading …

ग़ज़ल – रामकिशोर उपाध्याय

Comments Off on ग़ज़ल – रामकिशोर उपाध्याय
ग़ज़ल – रामकिशोर उपाध्याय

बंदगी के सिवा ना हमें कुछ गंवारा हुआ आदमी ही सदा आदमी का सहारा हुआ * बिक रहे है सभी क्या इमां क्या मुहब्बत यहाँ किसे अपना कहे,रब तलक ना हमारा हुआ * अब हवा में नमी भी दिखाने लगी है असर क्या किसी आँख के भीगने का इशारा हुआ * आ गए बेखुदी में […]

Continue reading …

माया – रामकिशोर उपाध्याय

Comments Off on माया – रामकिशोर उपाध्याय
माया – रामकिशोर उपाध्याय

(लघु कथा)। आज मोहन पूरे दिन उदास था। उसका दफ्तर की फाइलों में मन नही लग रहा था। बार बार कमरे के बाहर जाता और वापस आ जाता। एसी भी बंद कर रखा था। उसके एक स्टाफ ने पूछा कि वह आज परेशान क्यों है ,कमरा भी गरम है ? उसने जवाब भी आधा अधूरा ही […]

Continue reading …
उपाध्याय को कविता लोकरत्न सम्मान

हिसार। स्थानीय जिंदल ऑडिटोरियम में कवितालोक शतकीय महाकुम्भ सम्मान समारोह एवं अखिल भारतीय कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। इस अवसर पर हिन्दी को समर्पित और काव्य जगत में खास पहचान रखने वाले भारतीय रेलवे के अधिकारी रामकिशोर उपाध्याय को कवितालोक रत्न से सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में हरियाणा के साहित्यकारों, प्रबुद्ध और गणमान्य नागरिकों […]

Continue reading …
अकेली होती रेत – अश्विनी शर्मा

एक बगूला बैठा देता है आसमान पर रेत को हवा के हिंडोले में हिचकोले खाती रेत छूती है अनजान ऊंचाईयां आश्चर्य से देखती है जड़ पड़े उन टीलों को जिनका अंशभूत ही है वो स्वयं ऊंचाईयों के सम्मोहन में उलझी रेत बड़ी आर्द हो देखती है अभी भी नीचे पड़े टीलों को फिर अचानक रो […]

Continue reading …
पाने को खुशी के पल – रामकिशोर उपाध्याय

पाने को आदमी, खुशी के पल, छलता जाता खुद को हर पल। कभी पिघलता जिस्म की गर्मी से कभी जमता रिश्तों की बेरुखी से घुटकर रह जाता कभी अचल, छलता जाता खुद को हर पल। कभी आती धुंध को ही सच मानता कभी जाती गंध को समेटना चाहता गिरता कभी टूटते तारे सा विकल, छलता […]

Continue reading …
जिन गीतों से सार न उपजे – आनन्द प्रकाश माहेश्वरी, आईपीएस

जिस डाली पर नीड़ बने ना उस पर जा कर रहना कैसा जिन राहों पर मंज़िल ना हो उन पर चलना-चलना कैसा जो डग सागर को ना जाए उस पथ पर बहती क्यों नदिया जो धारा तट तक ना जाए उससे क्यों टकराती नैया जिन पुष्पों में रंग न उभरें उनका खिलना है क्या खिलना […]

Continue reading …
उपाध्याय को मैथिलीशरण गुप्त पुरस्कार

नई दिल्ली। काव्य जगत में खास पहचान रखने वाले रचनात्मक अधिकारी रामकिशोर उपाध्याय को प्रतिष्ठित मैथिलीशरण पुरस्कार से भारतीय रेलवे ने सम्मानित किया है। मंगलवार को रेल मंत्रालय ने राजभाषा कार्यक्रम क्रियान्वयन समिति की 118वीं बैठक आयोजित की थी। इस बैठक में मौलिक लेखन के क्षेत्र में वर्ष 2013 के प्रेमचन्द पुरस्कार (कथा, उपन्यास), मैथिलीशरण […]

Continue reading …