आई.पी.एस. जैकब थॉमस से हिली केरल की ब्यूरोक्रेसी

Filed under: Exclusive |

तिरुवनंतपुरम। जैकब थॉमस। आपके लिए यह नाम साधारण हो सकता है। लेकिन केरल के लिए नहीं। केरल के ऑफिसर्स के लिए तो बिलकुल ही नहीं। …और केरल के आई.ए.एस. ऑफिसर्स के लिए तो जैकब थॉमस हिला देने वाले व्यक्ति साबित हुए हैं। बतौर विजिलेंस चीफ जैकब थॉमस ने केरल के आई.ए.एस. अधिकारियों के पीछ़े पडक़र मामलों को जिस तरह उधेडऩा शुरू किया, पूरी ब्यूरोक्रेसी हिल गई। आई.एस.एस. एसोसिएशन आगे आई, केन्द्रीय आई.ए.एस. एसोसिएशन में जैकब को लेकर मीटिंगे बुलानी पड़ी और भी ऐसी ढेरों घटनाएं, तो इस आई.पी.एस. अधिकारी के कामकाज और दबंग अंदाज को लेकर सुर्खियां बनी।

ताजा जानकारी में जैकब ने इशारा किया है कि वह दुबारा केरल के विजिलेंस चीफ नहीं बनेंगे, जिसे लेकर जैकब फिर चर्चा में आ गए हैं। पूर्व में विजिलेंस चीफ केरल के पद पर सेवाएं देते हुए उन्होंने जो किया वह देशभर के ऑफिसर्स जानते हैं। हाल ही एक पत्रकार के पूछे जाने पर उन्होंने इस बात को साफ तौर पर खारिज कर दिया कि वह विजिलेंस चीफ नहीं बनेंगे। जैकब 1985 बैच के आई.पी.एस. हैं। मार्च के अंतिम दिनों में हाल ही जैकब को विजिलेंस चीफ के पद से हटा दिया था, जो बड़ी घटना मानी जा रही थी। क्योंकि डीजीपी सहित लॉबी में भी जैकब के छुट्टी पर चले जाने की बातें प्रचारित-प्रसारित की गई और कहा गया की छुट्टी पर चले जाने की वजह से जैकब का चार्ज डीजीपी लोकनाथ बेहरा के पास अतिरिक्त कार्यभार के तौर पर रहेगा। बीते दिनों कोर्ट कचहरी में पहुंचे जैकब के मामले, उनके सर्विस रूल्स को तोडक़र कदम उठाने के मामले, संपत्ति को लेकर मामले उठाए गए।

मुख्यमंत्री के करीबी माने जाते रहे हैं जैकब
केरल में दमदार पद विजिलेंस चीफ रहते हुए जैकब ने ब्यूरोक्रेसी को भी हिलाया। कई मामले उधेड़ डाले। लेकिन जैकब मुख्यमंत्री पी.विजयन के करीबी होने के चलते दमदार निर्णयों के साथ आगे बढ़ते ही चले गए।

कैसे हिले ब्यूरोके्रट्स
जैकब जब विजिलेंस चीफ बनें, तो करीब 20 आई.ए.एस. और आई.पी.एस. सहित दर्जनभर सेवानिवृत्त ब्यूरोक्रेट,नेता, पूर्व मंत्रियों के लिए संकट खड़ा हो गया। जैबक ने जांचे बिठा दी। पुराने मामले उधेडऩे शुरू कर दिए। जैकब की कार्यप्रणाली से आहत आई.ए.एस. ऑफिसर्स ने प्रताडऩा का हवाला देते हुए जैकब का विरोध शुरू किया। एसोसिएशन से लेकर मुख्यमंत्री और केन्द्र तक जैकब की कार्यप्रणाली को लेकर आवाजें उठी। लेकिन जैकब अपने काम में जुटे रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *