IAS खेमका को ईमानदारी का एक और तोहफा, ’51वां तबादला’

0
1082

चण्डीगढ़। नेताओं की दुर्भावनाओं के शिकार ईमानदार अधिकारी लगातार होते रहे हैं। हरियाणा के 1991 बैच के आई.ए.एस. अशोक खेमका इस लिस्ट में संभवताया टॉप पर हैं। ताजा आदेश में अशोक खेमका का 51वां तबादला कर दिया गया है। सूची जारी होते ही खेमका ने ट्विट भी किया – ‘निहित स्वार्थ जीत गए’

ऑफिसर्स भरे ही इस बात को समझें या न समझें, लेकिन राजनीतिक महत्वाकांक्षाओं की बली बड़ी तादाद में देश में अधिकारी चढ़ते रहे हैं। राजनेता अपने कृत्यों को अंजाम देने के लिए अधिकारियों का इस्तेमाल कर हैं। जो खुशी-खुशी उनके साथ है, सपंत्तियां और पावर अर्जित कर रहे हैं। जो गलत का साथ नहीं दे रहे भेंट चढ़ रहे हैं। बहरहाल खेमका के ट्विट से भी गलियारों में हलचल मच गई है। अपने ट्विट में खेमका ने लिखा है – ”So much work planned. News of another transfer. Crash landing again. Vested interests win. Déjà vu. But this is temporary. Will continue with renewed vigour and energy” । अधिकारी और नेता जानते है कि हरियाणा काडर के खेमका गलत के पेटे न डरते हैं, न दबाव में आते हैं। गौरलतब है कि खेमका के खिलाफ हरियाणा सीड्स डेवल्पमेंट कॉर्पोरेशन के 2012-13 मामले में 8 अगस्त को खेमका के खिलाफ चार्जशीट को भी सरकार ने खत्म कर दिया था। मामले में खेमका तथ्यों के आधार पर सही पाए गए थे, लेकिन खेमका की ईमानदारी नेताओं में आंख में लगातार रड़कन बन गई थी।