मोदी से यह टकराव वसुंधरा राजे की सत्ता की ताबूत की कील बनेगा

0
954

जयपुर। राजस्थान की राजनीति में ताजा सरकार के हाल खस्ता दर खस्ता होते जा रहे हैं। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के मोदी से वैचारिक टकराव लगातार बढ़ रहे हैं। बीते दिनों जहां राजस्थान का नेतृत्व बदलने की बात जोर पकड़ रही थी, वहीं अपनी नांव को बचाते-बचाते राजे सीधे तौर पर मोदी पर वैचारिक प्रहार की ओर हैं।

ताजा जानकारी के अनुसार आज अजमेर के किशनगढ़ में होने जा रहे हवाई अड्डे के उद्घाटन का मामला मोदी और राजे के सीधे टकराव में एक बड़ी वजह बनने जा रहा है। एक ओर इसका उद्घाटन मोदी करना चाह रहे थे, वहीं कल आचार संहिता लगने की तैयारियों के बीच राजे ने मोदी की बजाय खुद ही उद्घाटन करने की पूरी तैयारियां आनन-फानन में कर ली हैं। मोदी अभी भी इस पक्ष में हैं कि वही इसका उद्घाटन करें, लेकिन राजे एक बार फिर मोदी के सीधे तौर पर मिले आदेशों के विपरीत उद्घाटन करने जा रही है। राजनीतिक विश्लेषकों के मुताबिक राजे सरकार की इस सत्ता के लिए यह घटना ताबूत की कील बनेगी। क्योंकि दिल्ली से राजे को बदलने संबंधी कयासों का जोर है, वहीं राजे अपने विधायकों की फौज के साथ लगातार ताकत का प्रदर्शन करते हुए नेतृत्व संभाल रही हैं। लेकिन बीते दिनों सरकारी तौर पर मंत्रियों के पर कतरने के चंद फैसलों के बाद ग्रासरूट स्तर पर भी राजे कमजोर हुई हैं। अब देखना यह है कि यह घटना पहली कील होगी या कीलों के बीच एक और कील बनकर अपनी भूमिका अदा करेगी। लेकिन असर जरूर होगा।