इंटरनेट के खोजकर्ता रॉबर्ट टेलर नहीं रहे

0
109

दुनिया को गति देने वाला खोजकर्ता आज दुनिया में नहीं रहा। इंटरनेट के जनक रॉबर्ट टेलर को दुनिया बॉब टेलर के नाम से भी जानते है, का देहांत सोमवार को 85 वर्ष की आयु में हो गया। 1960 में पेंटागन में काम करते हुए रॉबर्ट ने अमेरिकन रिसर्च सेंटर के लिए काम किया और फिर इंटरनेट की खोज की।

पार्किंसन की बीमारी से अपने अंतिम समय में जूझ रहे रॉबर्ट ने साइकोलॉजी में कॉलेज की पढ़ाई पूरी की, लेकिन इंजीनियरिंग की दुनिया में करियर बनाया। उन्होंने कई एयरक्राफ्ट कंपनियों के साथ काम करने के अलावा नासा और फिर अमेरिकन सैन्य विभाग के साथ एडवांस रिसर्च प्रोजेक्ट एजेंसी (एप्रा) के साथ भी 1965 में काम किया। इस दौर में एप्रा देश में कंप्यूटर रिसर्च संबंधित प्रोजेक्ट स्पॉन्सर भी करती थी। एप्रा में इंफोर्मेशन प्रोसेसिंग टेक्नीक्स ऑफिस के निदेशक के तौर पर सेवाएं देने के दौरान रॉबर्ट ने कंप्यूटर के जरिए फाइलें दूसरे वैज्ञानिकों को भेजने, मैसेज शेयर करने पर काम किया। रॉबर्ट को अपने काम के लिए उस दौर में एक मिलियन डॉलर्स की सहायता मिली थी। आज दुनियाभर में रॉबर्ट की खोज की बदौलत इंटरनेट का लाभ 3.71 अरब लोग लाभ ले रहे हैं।