51 के ADGP, फिटनेस ऐसी 21 के युवाओं को भी होती है जलन

0
974

अहमदाबाद। भारतीय पुलिस सेवा के वरिष्ठ अधिकारी और गुजरात काडर में अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक, गुजरात क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो डॉ. शमशेर सिंह की फिटनेस किसी भी नेशनल फिटनेस चैलेंज की मोहताज नहीं है। डॉ. सिंह रनर हैं। दौड़ते हैं, तो न रुकते हैं न थकते हैं। 51 की उम्र में भी उनकी फिटनेस कुछ ऐसी हैं कि 21 के युवा को डॉ. सिंह से जलन होने लगे।

ऑफिसर्स टाइम्स को अहमदाबाद से मिली जानकारियों के अनुसार डॉ. सिंह इसी साल 161 किलोमीटर के अल्ट्रा ट्रायल रन में भाग ले चुके हैं और लगातार 39 घंटे दौड़ चुके हैं। उन्हें इस टास्क के लिए 45 घंटे का समय अलॉट किया गया था, लेकिन डॉ. सिंह कहा मानने वाले थे। उन्होंने 6 घंटे पहले ही टार्गेट क्रैक कर दिया। संभवतया डॉ. सिंह देश के एकमात्र ऐसे आई.पी.एस. हैं, जो सबसे ज्यादा दौड़े हैं। दो साल पहले 2016 में डॉ. सिंह ने 101 किमी. और 2017 में 55 किमी. तक रनिंग की। 55 किमी. रनिंग में डॉ. सिंह की बेटी भी उनके साथ दौड़ीं थी। दिलचस्प बात यह भी है कि डॉ. सिंह अभी 51 की उम्र में थके नहीं हैं। वह कहते हैं मेरा सपना है कि मैं तीन देशों को क्रॉस कने वाली दुनिया की टफेस्ट अल्ट्रा ट्रायल रन डु मोंट ब्लैंक (यूटीएमबी) में भाग लेकर 170 किलोमीटर फतह करना चाहता हंू।

कहां से लाते हैं इतनी एनर्जी? डॉ. सिंह कहते हैं, खुद के लिए रोज दो घंटे निकालना मुश्किल काम नहीं है। यही वजह है कि मैं रोज दो घंटे दौड़ता हंू। सप्ताह में एक दिन जिम जाता हंू, ताकि शरीर की दूसरी मसल्स को समय मिल सके। 161 किमी. अल्ट्रा रन को पूरी करने के संबंध में डॉ. सिंह कहते हैं, यह जीपीएस आधारित अल्ट्रा रन है। इसमें पहाड़ और रेगिस्तान के बीच दौडऩा होता है। हर आठ किमी. पर एड स्टेशन होते हैं जो रनर्स की मदद करते हैं। लेकिन ऐसा नहीं है कि यहां चैलेजेज नहीं आते। मैंने जब इसे पूरा किया तो आखरी दस किमी. में मेरे जीपीएस की बैट्री डाउन हो गई थी और रूट से मैं अनभिज्ञ हो गया। लेकिन मैं रुका नहीं। नतीजतन मैंने इसे छह घंटे पहले ही पूरा कर दिया।