जब यूं निकल पड़ें SP, तो क्यों न होगी जनता संतुष्ट

0
911

गाजियाबाद। पुलिस अधीक्षक अगर आम आदमी के दुख-दर्द जानने, समझने, सुविधाओं का ध्यान रखने खुद पैदल ही सडक़ों पर निकल पड़ें, तो कया कहने। वाकया है गाजियाबाद का। शहर के युवा पुलिस अधीक्षक आकाश तोमर के शहर में चर्चे हैं। एक ओर जहां कावडि़ए झुंड के झुंड धार्मिक आस्थाओं से लबरेज आगे बढ़ रहे हैं, वहीं उनकी परेशानियों, रास्ते में होने वाली दुविधाओं का जायजा लेने तोमर अपनी टीम के साथ पैदल ही निकल पड़े।

इस जायजा लेने के दौरान तोमर के साथ सिविल डिफेंस के लोग भी थे। तोमर सुबह और शाम कावडिय़ों की सुविधाओं का गाजियाबाद में जायजा ले रहे हैं, वहीं संतों से मिलकर रूट संबंधी फीडबैक भी ले रहे हैं। यह बेहतरीन उदाहरण है, जब एसी चैम्बर में बैठ कर आदेश देने की प्रचलित और पारम्परिक प्रणाली को तोड़ते हुए तोमर अपने जिले का ख्याल रख रहे हैं।